Women, awarded Bharat Ratna

Posted on

Women, awarded Bharat Ratna

भारत रत्न (Bharat Ratna), भारत गणराज्य का सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार है जो किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रदान किया जाता है। अब तक कुल 48 लोगों को भारत रत्न से सम्मानित किया जा चूका है जिसमे से केवल 5 महिलाएं हैं। ये 5 हैं।

1 . इंदिरा गाँधी
2. मदर टेरेसा
3. अरुणा आसफ अली
4. एम एस सुबुलक्ष्मी
5. लता मंगेशकर

भारत रत्न के कुछ रोचक तथ्य http://www.nairahein.com/interesting-facts-of-bharat-ratna/

इंदिरा गाँधी

इंदिरा गाँधी भारत की प्रथम एवं एकमात्र महिला प्रधानमंत्री रही हैं। इनका जन्म 19 नवंबर 1917 को तथा मृत्यु 31 दिसंबर 1984 को हुआ था। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की बेटी हैं।

प्रधानमंत्री रहते हुए इन्हे बहुत आलोचनाओं को भी झेलना पड़ा तथा बहुत सारे उपलब्धियां भी हासिल की।

इनकी सबसे बड़ी उपलब्धि बांग्लादेश की स्वतंत्रता में योगदान है। ये 1966 में पहली बार प्रधानमंत्री के पद पर आसीन हुई और 1971 में भारत पाकिस्तान युद्ध के बाद बांग्लादेश स्वतंत्र हुआ।
1972 में इन्हे भारत रत्न से सम्मानित किया गया।  

मदर टेरेसा


मदर टेरेसा को 1980 में उनके निश्वार्थ सेवा के लिए भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

ये प्रथम भारतीय महिला हैं जिन्हे नोबेल पुरस्कार भी मिला है।
इनका जन्म 26 अगस्त 1910 तथा मृत्यु 5 सितम्बर 1997 को हुई थी।
1950 में इन्होने मिशनरी ऑफ़ चैरिटी की स्थापना कोलकाता में की थी।
इनको 1962 में रेमैन मैग्ससे पुरस्कार तथा 1979 में शांति के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

नोबेल पुरस्कार के शुरुआत की कहानी http://www.nairahein.com/story-behind-starting-of-nobel-prize/


भारतीय जिन्हे नोबेल पुरस्कार मिला http://www.nairahein.com/indians-indian-origins-won-nobel-prize/

अरुणा आसफ अली

अरुणा आसफ अली एक स्वतंत्रता सेनानी थी जिन्होंने 1942 के महात्मा गाँधी द्वारा शुरू किये गए भारत छोडो आंदोलन में मुंबई के गोवलिया टैंक मैदान में तिरंगा लहराया था।
ये दिल्ली की प्रथम मेयर रह चुकी हैं। इनका जन्म 16 जुलाई 1909 को कालका आज के हरयाणा में हुआ था तथा इनका असली नाम अरुणा गांगुली था। इनकी मृत्यु 29 जुलाई 1966 को हुई।

इनको मिले पुरस्कार

भारत रत्न के साथ साथ इन्हे और कई सम्मान मिल चूका है। जैसे
अंतर्राष्ट्रीय लेनिन शांति पुरस्कार
(Awards International Lenin Peace Prize (1964))
Jawaharlal Nehru Prize (1991)
पद्मा विभूषण  (1992)
इन्हे 1997 में मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किया गया।
 

All India Minorities Front प्रत्येक वर्षा इनके नाम से डॉ अरुणा आसफ अली सद्भावना पुरस्कार प्रदान करता है। 

एम एस सुबुलक्ष्मी

एम एस सुबुलक्ष्मी कार्नाटिक म्यूजिक के क्षेत्र में बहुत बड़ी हस्ती हैं जिन्हे 1998 में भारत रत्न प्रदान किया गया।

ये म्यूजिक के क्षेत्र में भारत रत्न प्राप्त करने वाली प्रथम शख्सियत हैं।
ये भारतीय संगीत से जुडी पहली हस्ती हैं जिन्हे रेमन मैग्ससे पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चूका है।
ये प्रथम भारतीय महिला हैं जिन्होंने 1966 में संयुक्त राष्ट्र General Assembly में प्रस्तुति दी हैं।
इनका पूरा नाम Madurai Shanmukhavadivu Subbulakshmi तथा इनका जन्म 16 सितम्बर 1916 तथा मृत्यु 11 दिसंबर 2004 को हुई थी।

एम एस सुबुलक्ष्मी मिले पुरस्कार

एम एस सुबुलक्ष्मी को भारत रत्न के अलावा बहुत पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चूका है जिनमे  से प्रमुख
पद्म भूषण (1954 )
संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार (1966 )
संगीत कलानिधि (1968 )
रेमन मैग्ससे पुरस्कार (1974 )
पद्म विभूषण (1975 )
कालिदास सम्मान (1988 )

लता मंगेशकर

करीब 30 भाषा में हजारो गांव को गाने वाली, स्वर कोकिला लता मंगेशकर को 2001 में भारत गणराज्य के सबसे बड़े पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया।
1942 में मराठी और हिंदी फिल्मो से शुरुआत करके अपना प्रथम हिंदी फिल्म के लिए गाना 1954 में फिल्म गजाभाऊ के लिए रिकॉर्ड किया।
लता मंगेशकर का जन्म 28 सितम्बर 1929 को।

 लता मंगेशकर को मिले पुरस्कार


इन्हे दादा साहब फाल्के पुरस्कार (1989 ) से भी सम्मानित किया जा चूका है तथा इन्हे फ्रांस की सरकार ने 2007 में अपने सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार Officer of the Legion of Honour से भी सम्मानित किया है।

नई राहें
Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *